Choot ki Pyaas

चूत की प्यास

मै एक कॉल सेंटर मे जॉब करता था वाहा मेरी एक सीनियर थी मै वाहा एक टीम लीडर था एक दिन मुझे और मेरी सीनियर जिसका नाम था प्रीति शर्मा था दोनो को थोड़ा सा काम था तो हम वही रुक गये. और कोई नही था पुर ऑफीस मे बात बात मे मेरी और उसकी बात होने लगी सेक्स के बारे मे उसने मुझसे पूछा की तुमने किसी के साथ सेक्स किया है तो मैने कहा की हा मैने कई लड़कियो के साथ सेक्स कर चुका हू लेकिन तुम क्यो ऐसे पूछ रही हो उसने कहा की मुझे नही लगता की कोई लड़का किसी लड़की की प्यास बुझा सकता है. तो मैने कहा की ऐसा नही है आज तक मुझे कोई ऐसी लड़की नही मिली जो मेरे लॅंड से सॅटिस्फाइ ना हुई हो. तो उसने कहा की ठीक है तुम्हे कभी ट्राइ करूँगी मैने कहा की जब मान तो तो आजना मेरे पार लड़कियो को चोदने के लिए हुमेशा टाइम है फिर मै अपने रूम पर आ गया

मै बता दू की मै अकेले अपने घर के बाहर रहता हू. फिर मुझे उसी दिन उसका कॉल आया. उसने कहा की कहा मज़ा दोगे मुझे अपने लॅंड का मैने कहा जहा आप अपनी चूत मुझे देना चाहे. उसने कहा की ठीक मै तुम्हारे रूम पर आ जौ कोई दिक्कत तो नही होगी.मैने कहा नही फिर वो आधे घंटे पर मुझे पास के चौराहे पर मिली मैने उसे अपनी बाइक पर बिठाया वो कुछ ज़्यादा ही मस्ती मे लग रही थी क्योकि वो काफ़ी सट के बैठी थी और अपनी चुचिया मेरी पीठ पर लगा रक्खी थी मै उसे अपने फ्लॅट पर लेके गया जैसे ही हम वाहा पहुचे उसने वो पर्स फेक के मुझसे लिपट गयी और मेरे कपड़े उतरने लगी मैने कहा ऐसे नही रानी आराम से करेंगे तो ज़्यादा मज़ा आएगा फिर मैने सबसे पहले उसे उसके कपड़ो के उपर से ही कस के रगड़ा कस के उसकी चुचिया दबाई उसके चूतादो को सहलाया फिर उसने रसीले होतो का मज़ा लेना सुरू किया करीब 30 मिनिट तक यही करते हुए उसका टॉप उतार दिया उसकी चुचिया ब्रा के अंदर से ही झाँकने लगी कसम से बड़ी सेक्सी लग रही थी वो उस टाइम पर फिर मैने उसके गले पर और जितना अंग दिख रहा था ब्रा के उपर से उसे कस के चूसा ुआर रगड़ा

फिर उसकी ब्रा भी उतार दी फिर क्या था उसकी मस्त बड़ी बड़ी चुचिया फुदकने लगी मैने पहले उसकी दोनो चुचियो को पकड़ पकड़ के कस के दबाया फिर बरी बरी से पाने मूह मे लेके कस के चूसना सुरू किया प्रीति की साँसे तेज हो चुकी थी ुआर उसके मूह से मस्त मस्त एग्ज़ाइटिंग आवाज़े निकालने लगी जो मुझे ुआर भी एग्ज़ाइट कर रही थी. फिर माने अपना एक हंता से उसकी जिनसे उतार दी और पनटी के उपर से ही उसकी चूत दबाने लगा. उसकी चूत एकदम गीली हो चुकी थी मैने फिर उसकी चड्धि भी उतार दी और धीरे धीरे उसकी चूत पर हंत फेरने लगा. मेरे ऐसा करने से वो और भी मदहोश हो गयी और ज़ोर ज़ोर से आँहे लेने लगी फिर फिर क्या मैने उसकी चूत मे एक उंगली दल दी उसकी चूत एक दम कुआँरी थी फिर क्या था मियने कस कस के अपनी उंगली से उसकी चूत के अंदर मालिश करना सुरू कर दिया वो और भी मदहोश हो गयी

फिर मैने अपने कपड़े उतरे जैसे ही मैने अपना 9 इंच का लॅंड निकाला उसने उसे पकड़ लिया ुआर बोलने लगी हाए राजा तुम्हारा लॅंड तो बड़ा मस्त है एक बार उससे मेरी चूत की आग शांत कर दो राजा जी. मैने फिर उससे अपना लॅंड चूसने के लिए कहा उसने एक बार मे ही मेरी आधा लॅंड मूह मे ले लिया और ज़्यादा लेने की कोशिश करने लगी पर लॅंड बड़ा होने के कारण पूरा लॅंड नही ले सकी मूह मे वो कस के मेरा लॅंड चुस्ती रही फिर मैने उसे उठा के उसकी चूत पर अपने होंठ टीका दिया उसके मूह से सिसकारियो की बौछार निकल पड़ी फिर मैने उसकी मक्खन जैसी चूत को रग़ाद रग़ाद के चूसा वो बोली अब बस करो मेरे राजा जी नही तो मै झाड़ जौंगी और तुम्हारा लॅंड गुसवाने का मज़ा फीका हो जाएगा मै नही माना और उसकी चूत छत छत कर उसे झाड़वा दिया जब वो झाड़ गयी तो मैने उससे कहा की टू तो बड़ी ब्ड़ाई बाते कर रही थी की कोई भी लड़का लड़की की प्यास नही बुझा सकता पर तुंटो मैदान ही चूड़ के भाग निकली वो शर्मा गयी पर मेरे लॅंड की प्यास अभी अधूरी थी मैने फिर से उसकी चुचियो को सहलाना सुरू किया और धीरे धीरे उसे भी जोश आने लगा फिर मैने दुबारा उसकी चूत चाटना सुरू किया वो फिर पूरी मस्ती मे आ गयी इस बार मैने देर नही की और उसकी टाँगे अपनी कमर पर रख कर अपने लॅंड का सूपड़ा उसकी चूत के मूह पर टीका दिया और एक ज़ोर का धक्का दिया मेरी एक चौथाई लॅंड उसकी चूत मे घुस गयी लॅंड मोटा होने के कारण उसे तकलीफ़ हो रही थी लेकिन उसे लॅंड की चाह इतनी थी की दर्द के बावजूद वो सिसकिया लेते हुए कहे जा रही थी आअहह मेरे राजा जीिइईई मज्ज़जाआ एयाया रहा हाईईईई और लॅंड पेलो ना अपनी रानी किी चूऊत मे फ़ीड डालो साली को बड़ा फुदकट्ी है जल्दी से लॅंड अंदर करो नाआ मेरे राज्ज्जजाआअ……

मैने फिर एक जोरदार धक्का दिया और मेरा पूरा का पूरा लॅंड उसकी चूत को फड़ते हुए घुस गया वो दर्द से कराह हुए पर मेी रुका नही और ताबड़तोड़ धक्के लगते हुए धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ने लगा कुछ धक्के लगते ही वो चिल्लाने लगी प्ल्स रुक जाओ बहुत दर्द हो रहा है मै थोड़ा सा रुका फिर थोड़ी देर बाद मैने धीरे धीरे लॅंड रगड़ना सुरू किया ुआसे भी मज़ा आने लगा और वो ज़ोर ज़ोर धक्का जलागाने को कहने लगी…. छोड़ो और ज़ोर से छोड़ो नाआआआ आइए हाए मज़ा आ रहा है हाए रे चूत तो फट गयी उईए माआआआअ गुस गया पूरा लॅंड मेरी चूत मे हाए राजा छोड़ो ना चूत फाड़ के भोसड़ा बना दो आज… मै लगातार अपने धक्को की स्पीड बढ़ने लगा और वो भी नीचे से अपनी गंद उछाल उछाल के मेरा पूरा साथ दे रही थी जब उसका झड़ने का टाइम आआया तो उसने अपनी गंद उछालना तेज कर दिया फिर एक दम से शांत हो गयी मैने भी उसे शांत होते देख अपने धक्को की स्पीड बढ़ा दी और झाड़ कर ही शांत हुआ. इस तरह से मैने उसे लगातार टीन दीनो तक जाम के चोदा.