Category Archives: Rishton Me Chudai

Bete Saman Devar Se Chudwaya – Part 3

बेटे समान देवर से चुदवाया – भाग ३

देवर हूं…हूं…हूं की आवाज निकालते हुये जोर जोर के धक्के मार रहा था.. मेरी चूत के दाने पर दर्द होने लगा…. इससे पहले कि मैं उसको बताती उसने ओ ओ ओ करते हुये इतनी जोर से धक्का मारा कि मेरे हाथ फ़िसल गये मैं छाती के बल जोर से बक्से के ऊपर पसर गई…. मेरी चूत से एक-दो इंच ऊपर हड्डी का हिस्सा बख्से के कोने से टकराया…मैं दर्द के मारे चिल्लाई- उईईई मां मर गई….। देवर ने तीन चार और धक्के उसी अवस्था में मारे और पच पच पच पच पच करके अपने वीर्य की पिचकारियाँ मेरी चूत के अन्दर मार दी। जब उसने अपना लण्ड बाहर खींचा तो चूत से पर र र र र्र र्र र्र की आवाज के साथ साथ ढेर सारा वीर्य निकलकर फ़र्श पर गिर गया। बड़ी मुश्किल से मैं बक्से के ऊपर से उठी…..
मैंने देखा मेरी चूत से थोड़ा ऊपर बक्से के कोने का निशान पड़ गया था। देवर ने देखा तो उसने मुझे बेड पर लिटाया और हथेली से उस निशान के ऊपर मालिश करने लगा। चुदाई का असल मज़ा मैंने आज लिया था….भले ही अब चूत में भयंकर दर्द हो रहा था। Continue reading

Didi ki Choot Chodi

दीदी की चूत चोदी

प्यारे दोस्तों

होली से दो दिन पहले रश्मि दी मुझसे प्रॉमिस की थी की होली के दिन चूत चुदवाएँगी .होली के दिन सुबह से ही मै काफ़ी उत्तेजित था. हर वक़्त मै दीदी के पीछे पीछे भाग रहा था लेकिन दीदी थी की होली मे खाना बनाना, घर सावरने मे ही व्यस्त थी. वो एक दो बार मुझसे बोली भी की कान्हा तुम जाओ ना मै रात मे दे दूँगी ना. दोपहर के बाद बगल घर की भाभी आ गयी और दीदी को रंग लगा दी. दीदी का पूरा चेहरा लाल रंग से रंग दी दीदी भी भाभी के चेहरे मे रंग लगा दी लेकिन भाभी अपना हाथ रश्मि दी के सूट के अंदर डालकर दीदी के चुचि को रंगने की कोशिश करने लगी लेकिन दीदी चिल्लाते हुए उनका हाथ बाहर निकल दी और दीदी भी उनकी चुचियों मे रंग लगाने लगी. मै देखकर हस रहा था और मज़े ले रहा था.दोनो काफ़ी देर तक एक दूसरे को रंग लगाए जा रही थी. दीदी भी खूब मज़े लेकर भाभी की चुचियों मे रंग डाले जा रही थी.फिर भाभी चली गयी. मै भी रंग लेकर दीदी के गाल मे लगा दिया. दीदी भी मुझे गाल मे रंग लगा दी. मै दीदी से बोला की दीदी रात को अपनी पिचकारी से आपको रंग डालूँगा. दीदी हस्ने लगी. मै मौका देखकर दीदी को अपनी बाहों मे जाकड़ कर एक लीप किस करके चुचियों को दबा दिया. फिर मै भी बाहर जा कर रंग खेलने लगा.
Continue reading

Bhai aur Boss se Chudwaya

भाई और बॉस से चुदवाया

मेरा नाम कला है। मैं मुम्बई में नौकरी करती हूं। मैं और मेरा भाई सुशील दोनों जुड़वां हैं. मैं बचपन से ही पढने में तेज थी तो इस वजह से घर में मेरे भाई को हमेशा डांट पड़ती थी कि देख तेरी बहन कितनी तेज है और तू नालायक …
मैं मुंबई में अकेली रहती थी एक बी एच के हाउस में मलाड में, एक साल बाद मेरे भाई का भी मुंबई में जॉब लग गया ..मम्मी पापा ने उसे मेरे पास ही रहने को कहा, हम दोनों साथ रहते थे मगर हमारे अंदर कोई ग़लत फीलिंग नहीं थी …

मैं कभी कभी जब ज्यादा चुदाने के लिए भूखी हो जाती थी तो शायद होश नहीं रहते थे और भाई का अंडरवियर लेकर उसे अपने चूत में ऊँगली से डालती थी …. मुझे पता नहीं था कि मेरा भाई मेरे बारे में क्या सोचता है। कुछ दिनों बाद मैंने नोटिस किया कि मेरी ब्रा और पैंटी कभी भी मेरे रखे हुई जगह पे नहीं मिलती थी और उन पे सिलवटें भी बहुत होती थी. मुझे शक हो गया था कि मेरा भाई भी मेरी ब्रा पैंटी प्रयोग करता है मुठ मारने के लिए ….. फ़िर भी हम चुप रहते …अब असली कहानी ….
मैं अपने बॉस से पहले चुदवा चुकी थी और वही था मेरे एक साल में दो प्रमोशन का राज … मेरे बॉस की उमर ४० की थी और उसका बॉस ५० का था … मैं २६ की थी …
क्यूँकि अभी मेरा भाई मेरे घर पे रहता था तो बॉस को बहुत दिनों से मौका नहीं मिला था मुझे चोदने का .. तो वो मुझसे काफी नाराज रहता था और मुझे कभी कभी डांटता भी था ऑफिस में ….
Continue reading

Didi ne group sex Karwaya

दीदी जीजा ने ग्रूप सेक्स करवाया

मेरा नाम है कुसुम है .आज में आप को मेरी कहानी सुनाने जा रही हूँ की कैसे मुझे मेरा जीवन साथी मिला और कैसे उस ने मुझे पहली बार चोदा. ये घटना घटीं तब में २३ साल की थी. शादी नहीं हुई थी लेकिन कंवारी भी नहीं थी. जब में 18 साल की थी तब मेरे एक कसिन ने मुझे पहली बार चोदा था. हम दोनो चुदाई से अनजान थे. दोनो में से एक को पता नहीं था की लंड कहॉ जता है और कैसे चोदा जता है. मेरी कोरी चूत में यूं ही उस ने लंड घुसेड दीया था और तीन चार धक्के में झड गया था.

मुझे बहुत दर्द हुआ था जो तीन चार दिन तक रह था. उस के बाद दो ओर लड़कों ने मुझे चोदा था लेकीन मुझे कोई खास मजा आया नहीं था. हुआ क्या की मुझे बरोड़ा में MBA में दाखिला मिला. रहने के लीये लेडीस होस्टल में तुरंत जगह ना मिल. मुझे चार महीना मेरी कसिन दीदी कनक के गहर रहना पड़ा. में खूब खूब आभारी हूँ दीदी की जीस ने मुझे आश्रय दीया और जीस की वजह से में मेरे पती को प सकी, जीस की वजह से ओगाज़्म का असवाद ले सकी.
Continue reading

Behan aur Bhanji ki Ek Saath Chudai

बहन और भांजी की एक साथ चुदाई

मेरी दीदी की शादी तब हो गयी थी जब मई 8 साल का था. मेरी दीदी मुझसे बहुत प्यार करती थी. जब मई छोटा था तो मेरे सारे काम वोही करती थी. मुझे खिलती थी और मुझे नहलाती भी थी.

बात ये तब की है जब मई पिछले साल रखी पर दीदी के घर गया था. दीदी मुझे देखकर बहुत खुश हुई. बोली अच्छा हुआ अभिशेख तुम आ गये. मुझे दीदी ने गले लगा लिया. हम 5 साल बाद मिले थे रखी पर. मुझे मेरे काम से फ़ुर्सत ही नही मिलता था.

ना चाहते हुए भी मैने दीदी की चुचि महसूस की. उन्होने मेरे वाइफ और बचो की हाल चल पूछा. मैने उन्हे बताया की सब ठीक है और इस बार मैं 2-3 दिन रुकुंगा. दीदी ने बताया की घर मे बहुत मेहमान आए हैं. तो मैने कहा की ठीक है फिर मैं राखी बँधवा के ही वापस चला जौंगा.

दीदी ने कहा मई तुम्हे जाने नही दूँगी. तुम हमारे कमरे मे सो जाना. तुम्हारे जीजू भी टूर पर गये है. तुम मेरे भाई हो किसी को कोई परेशानी भी नही होगी. मैने उनके सास ससुर से मिला. उनका आशीर्वाद लिया. फिर राखी बंधवाया.

नाश्ता किया फिर घूमने निकल गया. दीदी ने बोला आज खाने पर मई तुम्हारे पसंद की चीज़ बनौँगी. जल्दी घर आ जाना. मई पास के ही थियेटर मे मोविए देखने चला गया. आते आते रात के 9.30 बाज गये. दीदी मेरी रह तक रही थी.
Continue reading