Author Archives: admin

Naukar Se Chudai ki Shaukeen Malkin

नौकर से चुदाई की शौकीन मालकिन

एक शहर में एक सेठ रहता था। चूंकि वो काफी रईस था तो उसने शादियाँ भी चार की थी। उस सेठ की उम्र करीब 64-65 रही होगी। अब आप सोच सकते हैं कि इस उम्र के आदमियों का लण्ड क्या खड़ा होता होगा। उसके घर में हर काम के लिये अलग-अलग नौकर लगे हुए थे। उसकी तीन पत्नियां का तो ठीक-ठाक था क्योंकि उन्होंने सेठ से भरपूर मजा लिया था पर चौथी पत्नी की हालत खराब थी क्योंकि उसकी उम्र २५-२७ रही होगी और इस उम्र में उसे किसी भी प्रकार का मजा नहीं मिल पा रहा था।
आखिर उसने तंग आकर ऐसा फैसला किया कि आप सबके होश उड़ जाएंगे।
उसका नाम चंदा था, उसकी एक नौकरानी थी जिसका नाम मीनाक्षी था।
अपनी जवानी से तंग आकर एक दिन चंदा ने मीनाक्षी से कहा- अब नहीं रहा जाता ! मैं तो अब नौकरों से अपनी चूत चुदवाकर अपनी जवानी की प्यास को ठण्डी करूँगी ! Continue reading

Paise bhi Mile aur Chut bhi

पैसे भी मिले और चूत भी

कहानी मेरी और एक 28 साल की विवाहिता स्त्री की है जिसका नाम कामया है, यह काल्पनिक नाम है।
कामया एक 28 साल सुन्दर मनमोहक, गोरी, हाइट 5’6″ के लगभग, पतली सी पर उसके वक्ष मस्त सुडौल 32 साइज़ के हैं।कमर तो पूछो मत इतनी नाहुक कि कोई देखे तो पागल हो जाए, चूतड़ वो मोटे मोटे…
उसका पति एक कम्पनी का मालिक है।मैं हमेशा एक नेटवर्किंग साईट पे लखनऊ बॉय के नाम से कमेन्ट करता था कि किसी भाभी, आंटी, डिवोर्सी, विधवा को सेक्स या अच्छी फ्रेंडशिप की जरूरत हो तो लखनऊ बॉय से संपर्क करें।और आगे मैं मेरा मोबाइल नंबर डालता था।शुरुआत में मुझे बहुत दूर से मिस कॉल या मैसेज आते थे भाभी और लड़कियों के। Continue reading

Bete Saman Devar Se Chudwaya – Part 3

बेटे समान देवर से चुदवाया – भाग ३

देवर हूं…हूं…हूं की आवाज निकालते हुये जोर जोर के धक्के मार रहा था.. मेरी चूत के दाने पर दर्द होने लगा…. इससे पहले कि मैं उसको बताती उसने ओ ओ ओ करते हुये इतनी जोर से धक्का मारा कि मेरे हाथ फ़िसल गये मैं छाती के बल जोर से बक्से के ऊपर पसर गई…. मेरी चूत से एक-दो इंच ऊपर हड्डी का हिस्सा बख्से के कोने से टकराया…मैं दर्द के मारे चिल्लाई- उईईई मां मर गई….। देवर ने तीन चार और धक्के उसी अवस्था में मारे और पच पच पच पच पच करके अपने वीर्य की पिचकारियाँ मेरी चूत के अन्दर मार दी। जब उसने अपना लण्ड बाहर खींचा तो चूत से पर र र र र्र र्र र्र की आवाज के साथ साथ ढेर सारा वीर्य निकलकर फ़र्श पर गिर गया। बड़ी मुश्किल से मैं बक्से के ऊपर से उठी…..
मैंने देखा मेरी चूत से थोड़ा ऊपर बक्से के कोने का निशान पड़ गया था। देवर ने देखा तो उसने मुझे बेड पर लिटाया और हथेली से उस निशान के ऊपर मालिश करने लगा। चुदाई का असल मज़ा मैंने आज लिया था….भले ही अब चूत में भयंकर दर्द हो रहा था। Continue reading

Bete Saman Devar Se Chudwaya – Part 2

बेटे समान देवर से चुदवाया – भाग २

उसने मुझे छोड़ दिया। मैं उठकर अपने कमरे में चली गई। अन्दर जाकर मुझे पछतावा होने लगा। अठारह साल बाद ऊपर वाले ने मौका दिया था और मैंने गंवा दिया। मैं कुछ सोचकर पलटी ही थी कि देवर ने मुझे अपनी बाहों में ले लिया।
मन ही मन बल्लियों उछलते हुये मैंने नाटक करते हुये कहा- रुको देवर जी, मैं रमेश को देखकर आती हूँ।
उसकी चिन्ता तुम मत करो मेरी जानेमन भाभी….. मैं देखकर आया हूँ… वो अपने बिस्तर पर उल्टा होकर सो रहा है।
छोड़ो तो सही…..दरवाजा तो बन्द कर दूं- मैंने कहा। Continue reading

Bete Saman Devar Se Chudwaya – Part 1

बेटे समान देवर से चुदवाया – भाग १

मेरी योनि के अन्दर घूमती उंगली ने मुझे मदहोश कर रखा था… स्स्स्स्सईई मेरी सिसकारी निकलने लगी… वो धीरे-धीरे उन्गली अन्दर बाहर कर रहा था… पर मैं इतनी मस्त हो गई थी कि ना तो एक उंगली से गुजारा हो रहा था और ना ही इतनी कम स्पीड में अब मज़ा आ रहा था….
आज इनको क्या हो गया ? इतनी देर से एक ही उंगली से करे जा रहे थे और वो भी इतनी धीरे-धीरे ….. मेरी कामुकता इतनी बढ़ गई थी कि मैंने अपने आप ही उनकी दो उंगलियां पकड़ कर अपनी चूत में घुसेड़ कर जोर-जोर से पेलने के लिये जैसे ही उनका हाथ पकड़ा …… मैं सन्न रह गई….यह तो बड़ा मुलायम सा हाथ था… मेरे पति का हाथ तो घने बालों से भरा पड़ा है……
तभी मेरा दिमाग झन्नाया…. Continue reading