Monthly Archives: August 2016

Bhabhi ki Choot Chodi

भाभी की चूत चोदी

बात तब की है जब में स्कूल में पढ़ता था, आगे होगी यही कोई 18 साल तब तक मुझे इन सब चीज़ों का इतना पता नहीं था में हरयाणा के एक छोटे से गाँव का रहने वाला हूँ, नाम है समीर. कद 5’10? बॉडी से एकद्ूम मजबूत और फिट एक दिन मुझे किसी काम से अपने पड़ोस में जाना पड़ा जब में उनकी सीढ़ियाँ चढ़ता हुआ उपेर पहुँचा तो मेने उनको पुकारा पर कोई आवाज़ नहीं आई घर काफ़ी बड़ा था में अंदर चला गया के शायद अंदर कोई होगा.
अंदर गया तो देकहा के एक खिड़की से कुच्छ अजीब ही नज़ारा देखने को मिला कमरे में भाभी घोड़ी बनी हुई थी और उनका पति अपने 6? के लोले से उन्हे धीरे धीरे चोद रहा था ये दोपहर की बात है टाइम होगा कोई 1:30 का मेने ये काम पहली बार देकहा था में वाहा से चलने को हुआ पर मन किया एक बार और देख लूँ में खिड़की के पास खड़ा हो कर देखने लगा भाभी ही बहुत सुंदर हैं और उनका शरीर तो ऐसा है के देखने वाला एक मिनूट में पानी छ्चोड़ दे.
जब वो पानी लाने या किसी और काम से घर से बाहर निकलती हैं तो गली के सभी लड़के और आदमी उन्ही को देखते है उनकी विशेषता उनके चूतड़ हैं उनकी चुचिया नातो ज़्यादा मोटी हैं और नही ज़्यादा छोटी हाँ तो मेने देकहा के भीया ने लंड बाहर निकल लिया था और कुच्छ बोल रहे थे मेने ध्यान से सुना भाभी कह रही तीन (हरयान्वी में) माने आपको इतनी बार कह लिया आप सुन लिया करो कभी तो भैया बोले के नहीं वो मुझसे नहीं होगा और वो ग़लत भी है भाभी को गुस्सा आ गया बोली इसमें क्या ग़लत है में क्या किसी और से कह रहीं हूँ के अपना ये लोड्‍ा मेरे चूतदों में भी बाद दिया कर जब मेरा मान करता है गंद में लंड बड़वाने का तो में तो तेरे ते ए कहूँगी ना भैया को भी गुस्सा आ गया और उन्होने बिना पानी छ्चोड़े ही कपड़े पह्न लिए मुझे लगा अब मुझे कुच्छ आवाज़ करनी चाहिए ताकि उनको लगे की में अभी आया हूँ.
Continue reading

Pados ko Bhabhi Ki Chudai

पड़ोस की भाभी की चुदाई

हैलो, दोस्तो ये मेरी पहली कहानी है जो मैं आप को बताने जा रहा हूं। मेरा नाम किशन है। मैं जब स्कूल में था तो काफ़ी शर्मीला हुआ करता था लेकिन जब मैं कोलेज पहुंचा तो वहां पर जो दोस्त मिले उनके साथ मैन एक चालू औरत के साथ उसके घर पर उसके पियक्कड पति के सामने चुदाई की और तब से यह सिलसिला आज तक चल रहा है। वैसे तो मैने अपनी ज़िंदगी में कई लड़कियों, कई आंटियों और भाभियों को चोदा है लेकिन आज जो घटना मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं वो मेरी ज़िंदगी में बिल्कुल अचानक घटी थी जब मैने अपनी भाभी को ही चोद डाला।

पहले तो मैं आप लोगों को अपनी भाभी के बारे में बता दूं। वो 30 साल की, गोरा रंग, टाइट बोडी, बड़ी बड़ी चूचियां, ऐसा की जो भी देखे देखता ही रह जाये। वो दिल्ली में रहती है। उसके 2 बच्चे हैं। एक दस साल का है और दूसरा सात साल का। पिछले दिसम्बर में उनके घर गया था ओफ़िस के काम से, मैं जयपुर में जोब करता हूं। और मेरा काम ऐसा है कि पूरा हिंदुस्तान घूमना पड़ता है।

जयपुर में दिसम्बर के महीने में काफ़ी ठंड होती है। भाई साहब नाइट शिफ़्ट की ड्युटी करने गये था। घर छोटा होने के कारण हम एक ही रूम में सोये था। मैं बेड पर सोया था और भाभी बच्चों के साथ नीचे लेटी थी। ठंड काफ़ी थी इसलिये बेड पर सोते ही मुझे नींद आ गयी। रात के 2 बजे पेशाब करने के लिये अचानक मेरी नींद खुली तो मैने देखा भाभी एक पतली सी चादर ओढ़ी हुई है और बुरी तरह से कांप रही थी और बच्चे एक कम्बल में सो रहे थे। शायद घर में दो ही कम्बल थे, एक उन्होने मुझे दिया था और दूसरा बच्चों को उढ़ाया था। मैं ने लाइट जलाई तो भाभी उठ कर बैठ गयी लेकिन वो बुरी तरह से कांप रही थी। मैं ने कहा आप ऊपर बेड में चली जायें मैं नीचे सो जाता हूं, तो उन्होने कहा ठंड बहुत है तुम्हें ठंड लग जायेगी। मैने कहा आप तो बुरी तरह से कांप रही है ठीक से बोल भी नहीं पा रही हैं आप ऊपर बेड पे सो जाओ।
Continue reading

Bhabhi Ko Janam Din Per Choda

भाभी को जनमदिन पर चोदा

आज मेरी भाभी का जनमदिन है मैने भाभी को पहले कह दिया था इस बार का जनमदिन भाभी और मैं एक साथ मनाईगे. जनमदिन के दिन मैं केक ले कर आया और भाभी के लिए एक अच्छा सा गिफ्ट भी लाया गिफ्ट मैं किया था मैं आप को आज बताओगा.भाभी ने कहा आगए देवर जी रात के 12 बजने वाले हैं .मेरे जनमदिन की तैयारी हो गई मैने कहा भाभी आप बेफिकर रहिए आप के इस देवर ने पूरी तैयारी कर ली है .पहले आप नहा कर एक अच्छा सा पटियाला ड्रेस पहन लीजिए. पटियाला शलवार मैं आप बहुत ही सेक्सी लगती है .भाभी ने कहा कौन सा वाला पटियाला ड्रेस पहनु मैने कहा भाभी वलवेट का जंपर है और पतली ग्रीन कौलौऊर की फूल चुन वाली शलवार है .भाभी ने कहा ठीक है आअप केक और कंडेल की तैयारी कीजिए मैं अभी नहा कर आती हूँ.

मैने कहा भाभी सब तैयार है आप बस अच्छे से नहा लीजिए .मैने पहले से ही बाथरूम का दरवाज़े के स्क्रू खोलकर दरवाज़ा निकल लिया था और एक पतला परदा लगा दिया था ताकी मुझे भाभी को नहाते हुए देख सकु.भाभी ने पूछा के बाथरूम का दरवाज़ा कहाँ गया और यह परदा कैसे लटक रहा है .मैने कहा भाभी हू दरवाज़ा नीचे से गल सड़ गया था मैने निकल कर दूसरा बनने दिया है तब तक यह परदा लगा दिया है आप आराम से पर्दे के अंदर नहलो.भाभी तोड़ा गुस्से मैं नहाने के लिए चली गई.मैं कुर्सी ले कर बाथरूम के बाहर बैठ गया.भाभी ने कहा यहाँ कियूं बैठे हो तो मानिए कहा भाभी अपने घर मैं चूहे बहुत हैं पहले दरवाज़ा था तो वो अंदर नही जाते थे लकिन पर्दे मैं से अंदर जा सकते हैं इसी लिए चूहा अंदर नही जाए मैं चूहा भागने के लिए बैठा हूँ.
Continue reading

Behan aur Bhanji ki Ek Saath Chudai

बहन और भांजी की एक साथ चुदाई

मेरी दीदी की शादी तब हो गयी थी जब मई 8 साल का था. मेरी दीदी मुझसे बहुत प्यार करती थी. जब मई छोटा था तो मेरे सारे काम वोही करती थी. मुझे खिलती थी और मुझे नहलाती भी थी.

बात ये तब की है जब मई पिछले साल रखी पर दीदी के घर गया था. दीदी मुझे देखकर बहुत खुश हुई. बोली अच्छा हुआ अभिशेख तुम आ गये. मुझे दीदी ने गले लगा लिया. हम 5 साल बाद मिले थे रखी पर. मुझे मेरे काम से फ़ुर्सत ही नही मिलता था.

ना चाहते हुए भी मैने दीदी की चुचि महसूस की. उन्होने मेरे वाइफ और बचो की हाल चल पूछा. मैने उन्हे बताया की सब ठीक है और इस बार मैं 2-3 दिन रुकुंगा. दीदी ने बताया की घर मे बहुत मेहमान आए हैं. तो मैने कहा की ठीक है फिर मैं राखी बँधवा के ही वापस चला जौंगा.

दीदी ने कहा मई तुम्हे जाने नही दूँगी. तुम हमारे कमरे मे सो जाना. तुम्हारे जीजू भी टूर पर गये है. तुम मेरे भाई हो किसी को कोई परेशानी भी नही होगी. मैने उनके सास ससुर से मिला. उनका आशीर्वाद लिया. फिर राखी बंधवाया.

नाश्ता किया फिर घूमने निकल गया. दीदी ने बोला आज खाने पर मई तुम्हारे पसंद की चीज़ बनौँगी. जल्दी घर आ जाना. मई पास के ही थियेटर मे मोविए देखने चला गया. आते आते रात के 9.30 बाज गये. दीदी मेरी रह तक रही थी.
Continue reading

Mami ko Pata Kar Choda

मामी को पटा कर चोदा

ये स्टोरी ६ महीने पहले की है. जब मैं अपनी मामी के साथ दिल्ली टूर पर था और वहां ऐसा हो गया जो मैं बहुत दिन से चाह रहा था. पहले आपको अपनी मामी के बारे मे बताता हू. उनका नाम करीना है, कलर थोडा सा सावंला है, गांड बहुत कटली लगती है. उनके बूब्स ३४सी है और गांड ३८ है.

वो चलती है तो उनकी गांड देखकर मेरा लंड पेंट फाड़ कर बाहर आने को करता है. अब आपको स्टोरी बताता हु. मैं हमेशा उनके आसपास रहता हु और उनके साथ टाइम स्पेंड करना पसंद करता हु. एक बार पता चला, वो दिल्ली जा रही थी अपनी फ्रेंड के साथ. तो मैंने भी जुगाड़ किया और उनके साथ जाने का प्रोग्राम बनाया. हम गाडी में घर से निकले.

और उनकी फ्रेंड के घर पहुचे, तो पता चला कि उनकी फ्रेंड की तबियत अचानक से ख़राब हो गयी है और वो नहीं जा पाएंगी. ये सुनते ही मामी उदास हो गयी. बट मैं तो ख़ुशी से पागल हो उठा. फिर मामी प्रोग्राम कैंसिल करने लगी. बट मैंने उनको बहुत रिक्वेस्ट किया और मना लिया. मैंने उनके साथ टाइम सेपंड करने का मन था, इसलिए उनको मना रहा था और मैं उनको हमेशा से ही चोदना चाहता था और इस मौके को गवाना नहीं चाहता था.

उनके मानने से मैं बहुत खुश था और हम दोनों दिल्ली चल दिए. २ बजे तक हम दिल्ली पहुच गये और वहां जाके हमने होटल में एक रूम लिया. पहले मामी फ्रेश हुई और फिर मैं भी फ्रेश हो गया. फिर मामी ने एक साड़ी पहन ली, जिसमे वो बहुत मस्त लग रही थी.
Continue reading